सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है / सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे

सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है / सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे – जब पृथ्वी और सूर्य के बीच में चन्द्र आ जाता हैं. तब चन्द्र के बीच में आ जाने से सूर्य का बिंब पुरे तरीके से ढक जाता हैं. इस प्रक्रिया को सूर्य ग्रहण कहा जाता हैं. जब पृथ्वी और सूर्य के बीच में चन्द्र आ जाता हैं.

Surya-graham-ke-samay-sury-kaisa-ho-jata-h (1)

तो सूर्य से आने वाली रोशनी में रुकावट आती हैं. इस वजह सूर्य की रोशनी पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती हैं. इस वजह से पृथ्वी की सतह पर उजाले में भी अंधेरा दिखने लगता हैं. जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्र एक सीधी एक लाइन में आ जाते हैं. तो यह सूर्य ग्रहण कहलाता हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है

वैसे तो पृथ्वी और सूर्य के बीच में जब चन्द्र आ जाता हैं. और चन्द्र की वजह से सूर्य ढक जाता हैं. इस स्थिति को सूर्य ग्रहण कहते हैं. लेकिन सूर्य ग्रहण तीन प्रकार से होता हैं. और तीनों प्रकार में सूर्य की स्थिति अलग-अलग होती हैं. सूर्य ग्रहण के तीन प्रकार पूर्ण सूर्य ग्रहण, आंशिक सूर्य ग्रहण और वलयाकार सूर्य ग्रहण हैं.

आंशिक सूर्य ग्रहण में सूर्य पृथ्वी की आधी सतह को ढक देता हैं. इसमें चन्द्र की परछाई पृथ्वी को पूरी नही ढकते हुए पृथ्वी की आधी सतह को ही ढकता हैं. ऐसे ग्रहण को आंशिक सूर्य ग्रहण कहते हैं. आंशिक सूर्य ग्रहण में सूर्य की रोशनी पृथ्वी की आधी सतह को ढकती हैं.

पूर्व सूर्य ग्रहण आंशिक सूर्य ग्रहण से बहुत ही अलग होता हैं. जब पृथ्वी का एक हिस्सा पूरी तरह अंधेरे में बदल जाता हैं. तो ऐसा ग्रहण पूर्ण सूर्य ग्रहण कहलाता हैं. ऐसे ग्रहण में सूर्य की रोशनी पृथ्वी के आधे हिस्से तक ही पहुँच पाती हैं.

आधे हिस्से में अंधेरा रहता हैं. इस समय चन्द्र पृथ्वी के सबसे निकट होता हैं. ऐसा माना जाता है की इस प्रकार का सूर्य ग्रहण 100 साल में एक बार होता हैं.

इसके बाद वलयाकार सूर्य ग्रहण भी बनता हैं. इस ग्रहण में सूर्य का केंद्र चन्द्र से ढक जाता हैं. इसमें सिर्फ सूर्य का केंद्र ही चन्द्र से ढकता हैं. इस वजह से सूर्य का किनारा ही दिखाई देता हैं. तब सूर्य का बाहरी हिस्से वाला किनारा अग्नि के समान दिखाई देता हैं. इस प्रकार के ग्रहण को अग्नि वलय ग्रहण और वलयाकार ग्रहण के नाम से जाना जाता हैं. तो सूर्य ग्रहण तीन प्रकार से होता हैं. और इन तीनो प्रकार में सूर्य की स्थिति अलग-अलग होती हैं.

Surya-graham-ke-samay-sury-kaisa-ho-jata-h (2)

Puri duniya main kitne log hain | पूरी दुनिया में कितने लोग रहते हैं

सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे    

सूर्य ग्रहण के दौरान नीचे दी गई बातों का ध्यान रखे.

  • सूर्य ग्रहण होने पर घर में पूजा-पाठ करने से बचना चाहिए.
  • सूर्य ग्रहण के दौरान घर में रसोई नही बनानी चाहिए.
  • सूर्य ग्रहण लगने पर शुभ कार्य करने से बचना चाहिए.
  • सूर्य ग्रहण लगने के बाद गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर निकलने से बचना चाहिए.
  • इस दौरान यात्रा करने से भी बचना चाहिए.
  • सूर्य ग्रहण के दौरान बच्चो और बुजुर्गो को अधिक सवाधानी रखनी चाहिए.
  • सूर्य ग्रहण होने पर गायत्री मंत्र का जाप करना फलदायी माना जाता हैं.
  • सूर्य ग्रहण में अपने आराध्य देव का जाप करना भी शुभ फलदायी माना जाता हैं.
  • सूर्य ग्रहण लगने पर भगवान ध्यान करना और उन्हें मन से याद करना शुभ माना जाता हैं.

Surya-graham-ke-samay-sury-kaisa-ho-jata-h (3)

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है / सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

जल्दी कर्ज उतारने के टोटके – 4 सबसे पावरफुल टोटके 

शनिवार को कर्ज मुक्ति के उपाय – 4 सबसे प्रभावशाली उपाय

हरसिंगार के फूल कब आते हैं | हरसिंगार का पौधा घर में लगाना चाहिए 

Shailesh Nagar

3 thoughts on “सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है / सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे”

Leave a Comment