साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं / जले हुए घाव पर क्या लगाएं

साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं / जले हुए घाव पर क्या लगाएं – जब हम किसी भी प्रकार से जल जाते हैं. तो जलन वाले हिस्से पर असहनीय दर्द होता हैं. और इसकी वजह से हमें घबराहट भी महसूस होती हैं. जब तक जलन वाले हिस्से को ठंडक नही मिलती हैं. तब शरीर का अंग जलता रहता हैं.

हम आग, तेल या किसी भी तरल पदार्थ से जल सकते हैं. जो की हमारे लिए पीड़ादायक होता हैं. कई बार हम साइलेंसर से भी जल जाते है. साइलेंसर की जलन भी असहनीय और पीड़ादायक होती हैं.

silencer-se-jalne-par-kya-lgae (2)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं

अगर आप साइलेंसर से जल जाते हैं. तो आपको सबसे पहले ठंडे पानी से जलन वाले हिस्से को धो लेना हैं. इससे जलन वाले हिस्से को ठंडक मिलती हैं. तथा जलन वाले हिस्से के आसपास का हिस्सा साफ़ हो जाता हैं. इससे संक्रमण होने से बच जाते हैं.

इसके बाद आप प्राथमिक उपचार में सोफरामाइसिन लगा सकते हैं. इससे साइलेंसर से जलने वाले हिस्से को जल्दी ठंडक मिलती हैं. और आपको दर्द से भी राहत मिलती हैं.

सोफरामाइसिन के अलावा आप बरनाल या फिर सिल्वरेक्स भी लगा सकते हैं. यह भी आपके जलन वाले हिस्से को तुरंत ही राहत पहुंचाने का काम करती हैं. अगर साइलेंसर के जलने पर आपके पास किसी भी प्रकार की दवाई या जलन की क्रीम नही हैं. तो आप एलोवेरा जेल या एलोवेरा लगा सकते हैं.

साइलेंसर के जलने पर आपको असहनीय दर्द तथा स्किन जलन हो सकती हैं. ऐसे में एलोवेरा लगाने से आपके जलन वाले हिस्सों ठंडक मिलती हैं. और आपको दर्द से भी छुटकारा मिलता हैं.

अगर आप साइलेंसर से अधिक जल गए हैं. तो आपको किसी चिकत्सक को दिखाना चाहिए. और उनके कहे अनुसार ट्रीटमेंट करवाना चाहिए. डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां या जलन की क्रीम आदि दे सकते हैं.

प्रेगनेंसी में सीधा सोना चाहिए या नहीं – प्रेगनेंसी में क्या नहीं करना चाहिए

जले हुए घाव पर क्या लगाएं

अगर हमारे शरीर का कोई भी हिस्सा जल जाता हैं. तो उसे ठंडक की जरूरत पड़ती हैं. तथा उस दौरान दर्द भी काफी अधिक होता हैं. ऐसे में आप जले हुए घाव पर नीचे दी गई वस्तु एप्लाय कर सकते हैं.

  • जले हुए हिस्से पर आलू पीसा हुआ आलू लगाना काफी फायदेमंद माना जाता हैं. अगर आप जले हुए हिस्से पर पीसकर आलू लगाते हैं. तो इससे आपकी स्किन की जलन कम होती हैं. और आपका दर्द भी काफी हद तक कम हो जाता हैं.
  • अगर आप किसी भी प्रकार से जल जाते हैं. तो जलन का घाव ठीक होने के बाद घाव के कुछ दाग शरीर पर रह जाते हैं. ऐसे में अगर जले हुए घाव पर तुलसी के पत्तो का रस लगाते हैं. तो इससे घाव को शीतलता प्रदान होती हैं. साथ साथ घाव मिटने के बाद उसके दाग शरीर पर नही रहते.
  • अगर आपको जले हुए घाव पर काफी अधिक दर्द हो रहा हैं. तो ऐसे में आपको पीसे हुए तिल प्रभावित जगाह पर लगाने चाहिए. इससे आपको दर्द और जलन से छुटकारा मिलेगा. इसके अलावा घाव के मिट जाने के बाद इसके दाग भी नही रहेगे.
  • जले हुए घाव पर हल्दी का लेप बनाकर लगाना भी काफी फायदेमंद माना जाता हैं. यह आपके घाव को जल्दी भरने में आपकी मदद करता हैं. इसके अलावा आप गाजर पीसकर भी प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं. इससे आपको जलन और दर्द में राहत मिलती हैं.
  • जले हुए घाव पर नारियल तेल भी अच्छा माना जाता हैं. नारियल तेल लगाने पर आपके घाव को शीतलता मिलती हैं. और आपका दर्द भी कम होता हैं.

silencer-se-jalne-par-kya-lgae (1)

पेशाब का दूधिया सफेद रंग की उपस्थिति के कारण है – सम्पूर्ण जानकारी

जलने के प्रकार कितने होते है?

वैसे कोई कभी भी किसी भी प्रकार से जल सकता हैं. लेकिन मुख्यरूप से देखा जाए तो जलने के तीन प्रकार होते हैं. जिसके बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

फर्स्ट डिग्री जलना

जब त्वचा ज्यादा नही जलती हैं. तब उसे फर्स्ट डिग्री बर्न यानी की प्रथम श्रेणी का जलना कहते हैं. इस प्रकार के जलने से आपको अधिक किसी भी प्रकार के उपचार की जरूरत नही पडती हैं. लेकिन अगर फर्स्ट डिग्री बर्न में भी आपके उत्तको को हानि पहुँचती हैं. तो इस परिस्थिति में उपचार की जरूरत पड़ती हैं.

सेकेंड डिग्री जलना

अगर सेकंड डिग्री बर्न हुआ हैं. तो ऐसी जलन में आपकी त्वचा तो जलती है ही लेकिन जलन के साथ साथ त्वचा पर लाल घाव दिखाई देता हैं. यानी की त्वचा का रंग लाल हो जाता हैं. और जलने वाले हिस्से पर सुजन और लालिमा भी दिखाई देती हैं.

जब कोई सेकेंड डिग्री बर्न होता हैं. तो ऐसी परिस्थिति में जल्द ही एक्सपर्ट डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए और उनसे इलाज शुरू करवाना चाहिए.

थर्ड डिग्री जलन

जलने का यह प्रकार सबसे घातक और भयंकर माना जाता हैं. जब कोई व्यक्ति थर्ड डिग्री जलन का शिकार बनता हैं. तब व्यक्ति के शरीर के ऊपरी हिस्से की तीनो परत जल जाती हैं.

ऐसा होना पर व्यक्ति की त्वचा काली या सुन्न पड़ जाती हैं. कई बार त्वचा सफ़ेद रंग की भी हो जाती हैं. और यह बहुत ही भयंकर माना जाता हैं. इस प्रकार के जलने पर रक्त का संचारण भी बंद हो जाता हैं.

अगर कोई इस तरीके से इतना अधिक जल जाता हैं. तो तुरंत ही बीना देरी किये डॉक्टर से उपचार शुरू करवाना चाहिए.

जलने के बाद रखे जाने वाली सावधानियां

अगर कोई किसी भी कारण से जल जाता हैं. तो जलने के बाद कुछ बातो को ध्यान में रखना होता हैं.जिसके बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • काफी लोग जलने के बाद जलने वाली जगह पर टूथपेस्ट लगा लेते हैं. लेकिन आपको ऐसा नही करना चाहिए. क्योंकि टूथपेस्ट में केमिकल होते हैं. जो आपकी त्वचा को और अधिक हानि पहुंचा सकते हैं.
  • जलने के बाद जब तक आपका इलाज चल रहा हैं. तब तक जलन वाली जगह को धुप के सम्पर्क में आने से बचाए. इससे जलन वाले हिस्से को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती हैं.
  • जलने के बाद त्वचा पर कई बार छाले बन जाते हैं. ऐसे छालो को फोड़ने की कोशिश ना करे. क्योंकि ऐसा करने से आपको अन्य त्वचा का संक्रमण हो सकता हैं.

silencer-se-jalne-par-kya-lgae (3)

फूल धोकर चढ़ाना चाहिए या नहीं – 8 फूल चढ़ाने का मंत्र 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं / जले हुए घाव पर क्या लगाएं आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

मनुष्य में शुक्राणु का निर्माण कैसे होता है – शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाएं

दिन में कितनी रस्सी कूदने चाहिए – रस्सी कूदने का सही समय 

 

Shailesh Nagar

1 thought on “साइलेंसर से जलने पर क्या लगाएं / जले हुए घाव पर क्या लगाएं”

Leave a Comment