शत्रु नाश के लिए चौपाई – अब तक की सबसे खतरनाक चौपाई कोई नहीं बताएगा

शत्रु नाश के लिए चौपाई – अब तक की सबसे खतरनाक चौपाई कोई नहीं बताएगा – कई बार हम हमारे शत्रु से काफी अधिक परेशान हो जाते हैं. हम नही चाहते हुई भी हमारे शत्रु हमारे से शत्रुता मोल ले लेते हैं. और कई बार तो हमारे शत्रु हमें इतना बुरे तरीके से बर्बाद कर देते है की हमारा जीवन पूरा बर्बाद हो जाता हैं. ऐसा होने पर हम भी मज़बूरी में शत्रु के विनाश के बारे में सोचते हैं. लेकिन शत्रु का नाश नही कर पाते हैं.

Shatru-nash-ke-lie-chaupai (1)

लेकिन हमारे पुराने शास्त्रों में कुछ ऐसी चौपाई बताई गई हैं. जिसके जाप से शत्रु नाश होता हैं. अगर आप भी इस चौपाई को जानना चाहते हैं. और चौपाई को सिद्ध करने का तरीका जानना चाहते हैं. तो आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से शत्रु नाश के लिए चौपाई बताने वाले हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

शत्रु नाश के लिए चौपाई                                                         

अगर आप आपके शत्रु का नाश करना चाहते हैं. तो आप नीचे दी गई चौपाई का जाप का कर सकते हैं. यह शत्रु नाश करने के लिए बहुत ही कारगर और अचूक चौपाई मानी जाती हैं. इसके जाप का तरीका भी हमनें नीचे बताया हैं.

चौपाई

बयरू न कर काहू सन कोई। रामप्रताप विषमता खोई।। भय व संशय निवृत्ति के लिए रामकथा सुन्दर कर तारी। संशय बिहग उड़व निहारी।।

इस चौपाई को उपयोग में लेने के लिए इसको सिद्ध करना होता हैं. इस चौपाई को सिद्ध करने के लिए आपको नीचे बताई गई बातो को ध्यान में रखना है.

  • चौपाई को सिद्ध करने के लिए सबसे पहले आपको स्नान आदि कर लेना हैं. और साफ़ वस्त्र धारण करने हैं.
  • इसके बाद आपको आहुति देने के लिए कुछ वस्तु की जरूरत पड़ेगी. जो वस्तु कुछ इस प्रकार हैं.
  • तिल, चंदन का बुरादा, चीनी, घी, कपूर, अगर, तगर, पंचमेवा, केसर, जौ, नागरमोथा इन सभी वस्तु को लेकर अच्छे से मिला लेना हैं.
  • अब इन मिश्रित वस्तु की 108 बार आहुति हो सके इस प्रकार से सामग्री तैयार करे.
  • अब आपको एक हवन कुंड प्र्जल्वित करना हैं. और उस हवन में इन सामग्री को 108 बार आहुति देते हुए प्रत्येक बार ऊपर दी गई चौपाई का जाप करना हैं.
  • इतना हो जाने के बाद आपकी चौपाई सिद्ध हो जाएगी.
  • अब इस सिद्ध चौपाई का रोजाना 108 बार जाप करना हैं.
  • जब तक आपके शत्रु का नाश नही हो जाता हैं. तब तक आपको इस चौपाई का जाप निरंतर करते रहना हैं. इस सिद्ध चौपाई के असर से धीरे धीरे आपके शत्रु का नाश होने लगेगा.

Shatru-nash-ke-lie-chaupai (3)

गायत्री मंत्र के 13 गुप्त उपाय – सवा लाख गायत्री मंत्र का प्रभाव

शत्रु नाश के लिए उपाय

शत्रु नाश के लिए कुछ उपाय हमने नीचे बताए हैं.

शत्रु नाश के लिए उपाय– 1

शत्रु नाश के लिए सबसे पहले आपको शनिवार के दिन का चुनाव करना हैं. इसके बाद शनिवार की रात को सात लौंग लेने हैं. और अपने शत्रु का नाम लेते हुए लौंग पर 21 बार फूंक मारनी हैं.

इसके बाद सुबह उठकर इन सात लौंग को अपने शत्रु का नाम लेते हुए जला देना हैं. यह उपाय आपको लगातार सात शनिवार तक करना हैं. यह उपाय करने से निश्चित ही आपके शत्रु का नाश होगा. और आपको आपके शत्रु पर विजय की प्राप्ति होगी.

शत्रु नाश के लिए उपाय– 2

अगर आप आपके शत्रु का नाश करना चाहते हैं. तो सबसे पहले आपको अमावस्या या फिर रविवार के दिन का चयन करना होगा. इन दिनों का चयन करने के बाद रात्री के समय यह उपाय करना हैं.

आपको एक कमरे में यह सारा उपाय करना हैं. जहाँ आपके आसपास कोई भी ना हो. उपाय करने के लिए सबसे पहले आपके सामने एक काला रंग का कपड़ा रखे. और उस पर माता काली की प्रतिमा को विराजमान करे. इसके पश्चात काली माता की पूजा अर्चना करे.

इतना हो जाने के बाद एक नींबू लीजिए और सिंदूर की मदद से नींबू पर अपने शत्रु का नाम लिखे. और इसके बाद क्रीं क्रीं शत्रु नाशक क्रीं क्रीं फट मंत्र का 11 या 21 बार रुद्राक्ष की माला से जाप करे.

यह उपाय करते ही आपके शत्रु का नाश होना शुरू हो जाता हैं. यह उपाय बहुत ही कारगर और अचूक माना जाता हैं.

Shatru-nash-ke-lie-chaupai (2)

चींटी भगाने का मंत्र तथा विधि – जाने शास्त्रों के तरीके और विधि विस्तार में

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से शत्रु नाश के लिए चौपाई बताई है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह शत्रु नाश के लिए चौपाई आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

पत्नी पति के बिना कितने दिन रह सकती है / पत्नी मायके क्यों जाती है 

2 दिन के लिए घूमने की जगह खोजो ऐसे

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

Shailesh Nagar

Leave a Comment