रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए / रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए

रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए / रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए – आज के समय में लोग वास्तुशास्त्र को काफी अधिक महत्व दे रहे हैं. क्योंकि वास्तुशास्त्र के अनुसार बनाया गया मकान हमारे जीवन को सुखमय बनाता हैं. वास्तुशास्त्र में घर की सभी वस्तु तथा बेडरूम, रसोई घर आदि को वास्तु टिप्स के आधार पर बनाया जाता हैं. लेकिन घर का रसोई घर इन सभी में सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जाता हैं.

Rasoi-ghar-me-Darwaja-kis-disha-me-hona-chahie-mandir-bnana (2)

अगर रसोई घर दरवाजा वास्तुशास्त्र के अनुसार सही दिशा में बनाया जाता हैं. तो हमें काफी लाभ होते हैं. लेकिन कुछ लोग रसोई घर का दरवाजा किसी भी दिशा में बना देते हैं. जिससे घर में रहने वाले सदस्यों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ता हैं. अगर आप भी रसोई घर के दरवाजे की सही दिशा जानना चाहते हैं. तो हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए तथा रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक और वास्तुशास्त्र से संबंधित अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए

वास्तुशास्त्र के अनुसार रसोई घर का दरवाजा उत्तर-पूर्व दिशा में होना सबसे अधिक शुभ माना जाता हैं. उत्तर-पूर्व दिशा को सकारात्मक ऊर्जा का भंडार माना जाता हैं. अगर आपके रसोई घर में उत्तर-पूर्व दिशा से ऊर्जा आती हैं.

तो वह रसोई घर में पड़े खाने की वस्तु में सकारात्मकता भरती हैं. और यह भोजन परिवार वाले ग्रहण करने से उनमें भी सकारात्मकता आती हैं. इसलिए रसोई घर का दरवाजा उत्तर-पूर्व दिशा में बनाना चाहिए.

रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए

जी नहीं, वास्तुशास्त्र के अनुसार रसोई घर में कभी भी मंदिर नहीं बनाना चाहिए. रसोई घर में मंदिर बनाने से घर के सदस्यों के दिमाग हमेशा गर्म रहते हैं. इसके अलावा घर के किसी भी सदस्य को रक्त से संबंधित बीमारी भी हो सकती हैं. इसलिए अगर आपके भी घर में मंदिर रसोई घर में हैं. तो वहा से हटाकर किसी और जगह पर शिफ्ट कर दे.

Rasoi-ghar-me-Darwaja-kis-disha-me-hona-chahie-mandir-bnana (1)

क्या रसोई घर में पूजा कर सकते हैं

वास्तुशास्त्र के अनुसार जब रसोई घर में मंदिर बनाना ही अशुभ माना गया हैं. तो रसोई घर में पूजा कैसे कर सकते हैं. इसलिए काफी ज्योतिष का मानना है. की घर के रसोई घर में मंदिर भी नहीं होना चाहिए. तथा रसोई घर में किसी भी प्रकार की पूजा भी नहीं की जानी चाहिए. ज्योतिष के अनुसार रसोई घर में पूजा करना अशुभ माना जाता हैं. इसलिए रसोई घर में पूजा नहीं करनी चाहिए.

किचन में चूल्हा किस दिशा में होना चाहिए

किचन में चूल्हा आग्नेय कोण में रखना चाहिए. अगर आग्नेय कोण में चुला रखना संभव नहीं हैं. तो आप चूल्हा पूर्व दिशा में भी रख सकते हैं. इससे भोजन बनाने वाले और भोजन खाने वाले दोनों का स्वास्थ्य अच्छा बना रहता हैं.

किचन का वास्तु दोष कैसे दूर करें

किचन का वास्तु दोष दूर करने के कुछ उपाय हमने नीचे बताए हैं.

  • किचन में इलेक्ट्रिक सामान को कभी भी इधर उधर नहीं रखना चाहिए. इससे घर में कलह उत्पन्न होता हैं.
  • रसोई में कभी भी बीना स्नान किए प्रवेश नहीं करना चाहिए. इससे घर में नेगेटिव ऊर्जा उत्पन्न होती हैं.
  • घर का मुख्य दरवाजा कभी भी रसोई घर से जुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए. इससे घर में पति-पत्नी के बीच कलह उत्पन्न होता हैं. अगर आपके घर का मुख्य दरवाजा किचन से जुड़ा हुआ है. तो मुख्य दरवाजे के ऊपर लाल रंग की क्रिस्टल लगा देनी चाहिए.
  • बाथरूम और किचन कभी भी एक सीध में नहीं होनी चाहिए. इससे परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहता हैं. अगर आपके घर का बाथरूम और किचन एक सीध में है. तो बाथरूम में कटोरी भरकर नमक रखे. और समय समय पर नमक को बदलते रहे.

Rasoi-ghar-me-Darwaja-kis-disha-me-hona-chahie-mandir-bnana (3)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए तथा रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान की है. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह रसोई घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए / रसोई घर में मंदिर बनाना चाहिए आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Shailesh Nagar

Leave a Comment