पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे – बहोत ही प्रभावशाली तरीके जाने

पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करेबहोत ही प्रभावशाली तरीके जाने – इस संसार में मनुष्य जो चाहता है अपनी मर्जी अनुसार कर सकता हैं. भगवान मनुष्य को कभी भी नही रोकते हैं. भले ही मनुष्य अच्छे काम करे या फिर बुरे काम करे. भगवान कभी भी कोई भी कार्य करने से मनुष्य को रोकता नही हैं.

लेकिन ध्यान में सब कुछ रखता है. यानी की आप अच्छे कार्य कर रहे है. तो भगवान आपको शुभ फल प्रदान करते हैं. और आप गलत कार्य करते है. तो भगवान आपको रोकता नही हैं. लेकिन आपके कार्यो को ध्यान में रखकर आपको उसकी सजा जरुर देता हैं.

par-stri-gaman-ka-praycshshit-kaise-kre (2)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे

अगर आपने पर स्त्री गमन कर लिया हैं. तो ऐसे में आपको भगवान बहुत बड़ी सजा दे सकते हैं. पर स्त्री गमन करना पाप माना जाता हैं. पर स्त्री गमन करने की आपको बहुत बड़ी सजा मिल सकती हैं. लेकिन आपको पर स्त्री गमन करने का दुःख है. और आप प्रायश्चित करना चाहते हैं. तो आप नीचे बताई गई बातो को ध्यान में रखे.

  • अगर आपने पर स्त्री गमन किया हैं. तो आपको कुछ अच्छे कार्य करने होगे जिससे भगवान आप पर प्रसन्न होगे. और इससे आपके पुण्य में बढ़ोतरी होगी.
  • जैसे की पर स्त्री गमन करने के बाद आपको एक संकल्प लेना होगा की आज के बाद आब दुबारा कभी भी पर स्त्री गमन नही करेगे. और इस प्रकार का संकल्प लेने के बाद आपको भूलकर भी पर स्त्री गमन नही करना चाहिए.
  • अगर आप पर स्त्री गमन का प्रायश्चित करना चाहते हैं. तो आपको रोजाना जरूरतमंद व्यक्ति को दान आदि करना चाहिए. और पुण्य कमाना चाहिए.
  • हमेशा जरूरतमंद लोगो की सेवा और मदद करे. उनके साथ हमेशा खड़े रहे.
  • हमारे आसपास रहने वाले जानवरों की सेवा करे. जैसे की उनको खाना खिलाए. आपके द्वार पर गाय माता आती हैं. तो उनको रोटी खिलाए.
  • कुत्तो को खाना खिलाए. और चीटियों को आटा खिलाए.
  • पक्षियों और मछलियों को खाना खिलाएं.
  • पर स्त्री गमन के बारे में कभी भी ना सोचे. और भगवान की भक्ति में अपना मन लगाये.
  • अपने माता पिता की सेवा में अपना मन लगाये. अपने गरुदेव की सेवा करे.
  • अगर आपने पर स्त्री गमन किया है. तो भगवान की शरण में जाए. और उनसे अपनी गलती की माफ़ी मांगे.

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है – 5 आश्चर्यजनक फायदे जाने

पराई स्त्री से सम्बन्ध बनाने वालों को नर्क में क्या सज़ा मिलती है

पराई स्त्री से सम्बन्ध बनाने वाले लोगो को बहुत ही भयंकर सजा दी जाती हैं. यमराज ने ऐसे लोगो के लिए बहुत भयंकर सजा निर्धारित की हैं. गरुड़ पुराण के अनुसार ऐसे लोगो को नर्म में गर्म लोहे के खंभे से आलिंगन कारवाया जाता हैं. और उसको बहुत ही तडपाया जाता हैं.

किसी को पैसा कब देना चाहिए / रात में किसी को पैसा देना चाहिए या नहीं 

किसी भी पाप का प्रायश्चित करने पर मन की स्थिति कैसी होती है

किसी भी पाप का प्रायश्चित करने पर पर मन में शांति की अनुभूति होती हैं. लेकिन हमारे मन में कही ना कही उस कार्य को लेकर अच्छा नही लगता हैं. पर प्रायश्चित करने के बाद थोडा मन हल्का होता हैं.

लेकिन आपको प्रायश्चित करने के बाद उस कार्य को कभी भी नही करना चाहिए. जिससे आपको दुःख हुआ था. लेकिन किसी भी पाप का प्रायश्चित करने के बाद कही ना कही हमारे मन को शांति अवश्य ही मिलती हैं.

par-stri-gaman-ka-praycshshit-kaise-kre (3)

गायत्री मंत्र के 13 गुप्त उपाय – सवा लाख गायत्री मंत्र का प्रभाव

पर स्त्री गमन करने से क्या सजा मिलती है

पर स्त्री गमन करने से मनुष्य को बहुत ही खौफनाक सजा मिलती हैं. मनुस्मृति के अनुसार पर स्त्री गमन करने से आपको नीचे बताई गई सजा मिल सकती हैं.

  • मनुस्मृति के अनुसार किसी भी व्यक्ति को पर स्त्री से गमन नही करना चाहिए. यह बहुत ही बड़ा अपराध माना जाता हैं. अगर कोई व्यक्ति पर स्त्री गमन करता है तो ऐसे व्यक्ति के सिर पर परलोक में योनी का चिन्ह बनाया जाता हैं. और अगले जन्म में यह चिन्ह व्यक्ति के सिर पर दिखाई देता हैं.
  • इसके अलावा परलोक में आग में लाल हुई स्त्री से आलिंगन करवाया जाता हैं. यह भी बहुत ही भयंकर सजा मिलती हैं.
  • इसके अलावा तीसरी सजा यह है की ऐसे व्यक्ति के अंडकोष को काटकर उसके हाथ में दिए जाते है. और दक्षिण पश्चिम दिशा में चलने के लिए कहा जाता हैं. और तब तक चलना होता हैं. जब तक उसकी मृत्यु नही हो जाती हैं.

पर स्त्री गमन का अर्थ क्या होता है?

पराई स्त्री के साथ शारीरिक संबंध बनाना पर स्त्री गमन करना होता हैं.

पराई स्त्री से संबंध बनाने से क्या पाप लगता है

गरुड़ पुराण के अनुसार पराई स्त्री से संबंध बनाना बहुत बड़ा पाप माना जाता हैं. जो पुरुष पराई स्त्री से संबंध बनाता हैं. वह बहुत बड़े पाप का भागीदार बनता हैं.

जो पुरुष पराई स्त्री से संबंध बनाते हैं. ऐसे पुरुष के लिए गरुड़ पुराण में बहुत ही कठोर सजा निश्चित की गई हैं. ऐसा करने से यमराज ऐसे पुरुष पर क्रोधित होते हैं. ऐसे पुरुष को सजा के रूप में परलोक में गर्म लोहे से आलिंगन करवाया जाता हैं.

पराई स्त्री से सम्बन्ध बनाने वालों को नर्क में क्या सज़ा मिलती है

पराई स्त्री से संबंध बनाने वाले लोगो को नर्क में बहुत ही कठोर सजा दी जाती हैं. इसके लिए पर स्त्री से संबंध बनाने वाले व्यक्ति को गर्म लोहे के खंभे से आलिंगन करवाया जाता हैं.

par-stri-gaman-ka-praycshshit-kaise-kre (1)

हनुमान जी के कौन से पैर का सिंदूर लगाना चाहिए – सिंदूर चढ़ाने का मंत्र

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे बहोत ही प्रभावशाली तरीके जाने आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए राम मंत्र – 5 सबसे शक्तिशाली मंत्र

पत्नी पति के बिना कितने दिन रह सकती है / पत्नी मायके क्यों जाती है 

2 दिन के लिए घूमने की जगह खोजो ऐसे

Shailesh Nagar

1 thought on “पर स्त्री गमन का प्रायश्चित कैसे करे – बहोत ही प्रभावशाली तरीके जाने”

Leave a Comment