एमएलसी का काम क्या होता है / mlc क्या होता है, फुल फॉर्म, योग्यता

एमएलसी का काम क्या होता है / mlc क्या होता है, फुल फॉर्म, योग्यता – एमएलसी के बारे में आप लोगो में से कुछ ही लोग जानते होगे. अगर आप एमएलसी के बारे में नही जानते है. और एमएलसी के बारे में सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी पाना चाहते हैं.

Mlc-ka-kam-kya-hota-h-full-form-yogyta-kaun-chunta (1)

तो आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होने वाला हैं. क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल में एमएलसी के बारे संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं. यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की एमएलसी का काम क्या होता है तथा mlc क्या होता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

एमएलसी का काम क्या होता है

एमएलसी के द्वारा किए जाने वाले कामों के बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • बिलों का स्वीकार तथा अस्वीकार करने का काम एमएलसी का होता हैं.
  • विधान परिषद के सभी महत्वपूर्ण कार्यो पर ध्यान रखने का काम एमएलसी की होता हैं.
  • मंत्री मंडल में कानून बनाने का काम एमएलसी की होता हैं.
  • मंत्री मंडल की समस्याओं पर चर्चा करने का तथा अपना प्रस्ताव रखने का काम एमएलसी का होता हैं.

mlc क्या होता है

एमएलसी विधान सभा में बैठने वाला विधान सभा का ही एक सदस्य होता हैं. जिसे विधान परिषद का सदस्य भी कहा जाता हैं. एमएलसी के चुनाव के दौरान एमएलसी का एक सदस्य चुना जाता हैं. एमएलसी को विधान सभा का उच्च सदस्य माना जाता हैं. जो मंत्री मंडल के कानून बनाने के कार्य तथा मंत्री मंडल की समस्याओं में अपना प्रस्ताव रखने का कार्य भी करते हैं.

एमएलसी फुल फॉर्म

एमएलसी का फुल फॉर्म Member of Legislative Council (मेंबर ऑफ़ लेजिस्लेटिव काउंसिल)होता हैं. जिसे हिंदी में विधान परिषद का सदस्य कहा जाता हैं.

एमएलसी को कौन चुनता है

राज्य विधानसभा, स्थानीय निकायों के सदस्य तथा शिक्षकों के द्वारा एमएलसी को चुना जाता हैं.

Mlc-ka-kam-kya-hota-h-full-form-yogyta-kaun-chunta (3)

एमएलसी बनने के लिए योग्यता

एमएलसी बनने के लिए कुछ योग्यता जरूरी होती हैं. जिसके बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • एमएलसी बनने के लिए सदस्य भारत का नागरिक होना जरूरी हैं. अन्य देश का नागरिक एमएलसी नही बन सकता हैं.
  • एमएलसी बनने के लिए व्यक्ति की आयु कम से कम 30 वर्ष होनी जरूरी हैं.
  • एमएलसी बनने के लिए व्यक्ति मानसिक तथा शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए. तथा मतदाता सूची में उसका नाम होना जरूरी होता हैं.
  • एमएलसी बनने के लिए व्यक्ति दिवालिया घोषित नहीं होना चाहिए.
  • अगर कोई व्यक्ति मानसिक रूप से पागल हैं. तो वह एमएलसी के लिए आवेदन नहीं कर सकता हैं.
  • एमएलसी बनने के लिए व्यक्ति अन्य कोई विभाग में सरकारी कर्मचारी नहीं होना चाहिए.
  • वह जिस क्षेत्र का एमएलसी बनना चाहता है. उस जगह का निवासी होना चाहिए.

एमएलसी का वेतन कितना होता है

एमएलसी का प्रतिमाह वेतन 250000 के करीब होता हैं. इसके अलावा एमएलसी को सरकारी भत्ता भी दिया जाता हैं.

एमएलसी का कार्यकाल कितना होता है

एमएलसी का कार्यकाल 6 वर्ष का होता हैं.

विधान सभा परिषद का कार्यकाल कितना होता है

विधान सभा परिषद का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है

Mlc-ka-kam-kya-hota-h-full-form-yogyta-kaun-chunta (2)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की एमएलसी का काम क्या होता है तथा mlc क्या होता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते हैं की आपको हमारा यह एमएलसी का काम क्या होता है  / mlc क्या होता है, फुल फॉर्म, योग्यता आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Shailesh Nagar

Leave a Comment