काली चालीसा के लाभ / kali chalisa benefits in hindi

काली चालीसा के लाभ / kali chalisa benefits in hindi – काली माता से बड़े से बड़े शत्रु भी डरते हैं. जब हमारा कोई भी काम नहीं होता हैं. तो काली माता के शरण में जाने से हमारा काम हो जाता हैं. काली माता माता दुर्गा का सबसे शक्तिशाली स्वरूप माना जाता हैं. काली माता के पूजन से तथा काली चालीसा का पाठ करने से काली माता के भक्तो की सभी मनोकामना पूर्ण होती हैं.

Kali-chalisa-ke-labh-benefits-in-hindi-wahan-swari (2)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से काली चालीसा के लाभ बताने वाले हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य जानकारी भी प्रदान करेगे. यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

काली चालीसा के लाभ / kali chalisa benefits in hindi

काली चालीसा के कुछ लाभ हमने नीचे बताए हैं.

  • काली चालीसा का पाठ करने से सभी सुख की प्राप्ति होती हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से हमारे शत्रु से हमें मुक्ति मिलती हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से हमारे मन में से डर तथा भय दूर होता हैं.
  • काली चालीसा पाठ करने से हमारे शरीर में मौजूद बीमारी ठीक हो जाती हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से हमारे शरीर में पॉजिटिव ऐनर्जी आती हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से भक्त के सभी संकट दूर हो जाते हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने वाला जातक हमेशा किसी भी क्षेत्र में सफल होता हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से हमारे ऊपर हुए जादू टोने का निवारण हो जाता हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से व्यवसाय, रोजगार, करियर आदि अच्छे से चलता रहता हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने से पारिवारिक तनाव दूर होता हैं.
  • काली चालीसा का पाठ करने व्यक्ति की चिंता कम होती हैं.

काली माता का वाहन क्या है

काली माता का वाहन वृषभ तथा गदर्भ माना जाता हैं.

काली माता की सवारी कैसे आती है

काली माता की सवारी गदर्भ पर बैठकर आती हैं.

काली माता की शादी किससे हुई थी

काली माता की शादी भगवान शिव से हुई थी. ऐसा माना जाता है की काली माता भगवान शिव की चौथी पत्नी हैं.

Kali-chalisa-ke-labh-benefits-in-hindi-wahan-swari (1)

मां काली को रक्त पीने की इच्छा क्यों हुई

एक समय की बात है जब कैलाश पर्वत पर दैत्यों ने हुमला कर दिया. चंड, मुंड और रक्तबीज नामक दैत्य बहुत ही शक्तिशाली थे. माता पार्वती ने ऐसे शक्तिशाली दैत्यों को मार डाला. लेकिन रक्तबीज नामक दैत्य को मारने में माता पार्वती को असफलता मिल रही थी.

क्योंकि माता पार्वती जैसे ही रक्तबीज के ऊपर हुमला करती उसके रक्त की बूंदे जमीन पर गिरकर एक और दैत्य पैदा हो जाता. इस कारण माता पार्वती रक्तबीज मार नहीं पा रही थी. इसके बाद माता पार्वती ने माता काली का रूप धारण किया. और रक्तबीज के रक्त को पीने लगी इस प्रकार रक्तबीज का विनाश हुआ. इस प्रकार मां काली को रक्त पीना पड़ा.

Kali-chalisa-ke-labh-benefits-in-hindi-wahan-swari (3)

काली चालीसा के नियम

काली चालीसा के कुछ नियम हमने नीचे बताए हैं.

  • काली माता की पूजा दो प्रकार से होती हैं. एक सामान्य पूजा और एक तांत्रिक पूजा.
  • तांत्रिक पूजा गुरु की शरण में करनी होती हैं. जब की सामान्य पूजा आप अपने तरीके से कर सकते हैं.
  • माता काली की पूजा के लिए शुक्रवार का दिन अतिउत्तम माना जाता हैं.
  • शुक्रवार के दिन सुबह के समय उठकर स्नान आदि कर ले. तथा गुलाबी या लाल रंग के वस्त्र धारण करे.
  • अब माता काली को धुप आदि लगाने के बाद गुलाब आदि के फुल अर्पित करे.
  • माता काली की पूजा के समय काले तथा लाल रंग की वस्तु चढ़ाए.
  • इसके बाद माता के समक्ष अपनी मनोकामना पूर्ति की प्रार्थना करे.
  • यह सभी प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद आप काली चालीसा का पाठ कर सकते हैं.
  • यह सभी नियम के साथ काली चालीसा का पाठ करना अतिउत्तम माना जाता हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से काली चालीसा के लाभ बताए हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है. तो आगे जरुर शेयर करे.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह काली चालीसा के लाभ / kali chalisa benefits in hindi आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Shailesh Nagar

Leave a Comment