कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए / कलश स्थापना किस दिशा में करें

कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए / कलश स्थापना किस दिशा में करें – हम कई बार हमारे कुछ शुभ प्रसंग तथा नवरात्रि आदि में माता के पास कलश स्थापना भी करते हैं. कलश की स्थापना करना भी हमारे लिए विशेष रूप से लाभदायी माना जाता हैं. कई बार हमारे हिन्दू सनातन धर्म में कलश की पूजा भी की जाती हैं. जिसे कलश पूजा के नाम से जाना जाता हैं.

ऐसे में हमे एक कलश की स्थापना करनी पडती हैं. लेकिन हमारे धर्म में वास्तु का भी काफी अधिक महत्व हैं. वास्तु के अनुसार कलश को सही दिशा में रखना हमारे लिए लाभदायी होता हैं. अगर हम गलत दिशा में कलश रख देते हैं. तो इससे हमें शुभ फल की प्राप्ति नही होती हैं. इसलिए कलश को भी सही दिशा में रखना जरूरी माना जाता हैं.

Kalash-mata-ke-kis-taraf-rakhna-chahie (2)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए

अगर आप शुभ फल की प्राप्ति चाहते हैं. तो आपको कलश भी सही दिशा में रखना होगा. अगर आप आपके घर में कलश की स्थापना करते हैं. तो आपको हमेशा ही कलश ईशान कोण में स्थापित करना चाहिए. और कलश का मुख उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ रहे इस बात का विशेष ध्यान रखे.

कलश रखने के लिए यह दिशा अतिउत्तम मानी जाती हैं. इसलिए आप कभी भी आपके घर कलश स्थापना करे तो इसी दिशा में कलश को रखे. इससे आपको विशेष फल की प्राप्ति होती हैं.

रात में बिल्ली देखने से क्या होता है?  महान पंडित से जाने

घर के मंदिर में कलश स्थापना कैसे करें

घर के मंदिर में कलश स्थापना करने की संपूर्ण विधि हमने नीचे बताई हैं.

  • सबसे पहले तो कलश स्थापना करने से पहले कलश को एक बार अच्छे से धो ले और साफ़ सुथरा कर ले. अगर हो सके तो कलश स्थापना करने वाला कलश आप नया ही ले ले.
  • जिस दिन आप कलश स्थापना करना चाहते हैं. उस दिन आपको शरीर और मन से स्वच्छ रहना हैं. और साफ़ सुथरे वस्त्र को धारण करना चाहिए.
  • इसके बाद जब आप कलश किस स्थापना करते हैं. तो आपको कलश को इशान कोण में उत्तर पूर्व दिशा में स्थापित करना चाहिए.
  • जब भी आप कलश की स्थापना करे आपको माता की प्रतिमा के आगे कलश को स्थापित करना हैं. और माता की प्रतिमा को भी किसी चौकी पर स्थापित करना हैं.
  • अब कलश स्थापना करने के पहले गंगाजल से कलश को अच्छे से पवित्र कर ले.
  • इसके बाद आपको लकड़ी की चौकी पर लाल रंग का कुमकुम से स्वस्तिक बनाना हैं. और इसके ऊपर कलश की स्थापना करनी हैं.
  • अब आपको कलश में आम का पता रखना हैं. और शुद्ध जल से भर देना हैं.
  • इसके बाद कलश में दूर्वा, हल्दी, कुछ सिक्के, सुपारी, आदि डाल दे.
  • इतना हो जाने के बाद आपको पानी वाला बीना छिले एक नारियल लेना हैं. और लाल कपड़े में लपेटकर कलश पर रख देना हैं.
  • अगर आप चाहे तो कलश के साथ एक अंखड दीपक की भी स्थापना कर सकते हैं.
  • इतना हो जाने के बाद कलश स्थापना हो जाती है. इसके बाद आप माता रानी की धुप दीप तथा पुष्प के साथ पूजा आदि कर सकते हैं.

Kalash-mata-ke-kis-taraf-rakhna-chahie (1)

स्त्री की नाभि छूने से क्या होता है | नाभि पर किस करने से क्या होता है

कलश स्थापना किस दिशा में करें

अगर आप कलश स्थापना करना चाहते हैं. तो आपको हमेशा ही कलश की स्थापना ईशान कोण में उत्तर पूर्व दिशा में करनी चाहिए. इस दिशा में कलश की स्थापना करना शुभ माना जाता हैं.

कलश स्थापना में नारियल कैसे रखें

अगर आप कलश स्थापना कर रहे हैं. तो हमेशा ही ध्यान रखे की कलश पर रखने वाला नारियल का मुख पूजा करने वाले व्यक्ति के सामने होना चाहिए. और कलश पर नारियल रखने से पहले नारियल पर कलावा लपेट ले और नारियल को लाल कपड़े में लपेटकर कलश पर रखे.

Kalash-mata-ke-kis-taraf-rakhna-chahie (3)

किसी को पैसा कब देना चाहिए / रात में किसी को पैसा देना चाहिए या नहीं 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा कलश माता के किस तरफ रखना चाहिए / कलश स्थापना किस दिशा में करें आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

गायत्री मंत्र के 13 गुप्त उपाय – सवा लाख गायत्री मंत्र का प्रभाव

चींटी भगाने का मंत्र तथा विधि – जाने शास्त्रों के तरीके और विधि विस्तार में

हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए राम मंत्र – 5 सबसे शक्तिशाली मंत्र

 

Shailesh Nagar

Leave a Comment