जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी – आयुर्वेदिक जड़ी बूटी लिस्ट?

जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी लिस्ट? – आपने काफी जड़ी बूटियों के नाम सुने होगे. लेकिन जंगली जड़ी बूटी का नाम शायद ही किसी लोगो ने सुना होगा. जिस तरीके से जड़ी बूटी का इस्तेमाल काफी सारी बीमारी में होता हैं. उसी प्रकार जंगली जड़ी बूटी का इस्तेमाल भी काफी सारी बीमारी के निवारण में किया जाता हैं.

लेकिन जंगली जुडी बूटी की पहचान करना थोडा मुश्किल काम हैं. अगर आप भी जंगली जड़ी बूटी की जानकारी तथा पहचान करने का तरीका जानना चाहते हैं. तो हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

Jangli-jdi-booti-ki-pahchan-jankari-aayurvedic-list (3)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी तथा सबसे ताकतवर आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताने वाले हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी

जंगल झाड़ी में होने वाले पेड़ पौधे तथा जड़ी बूटी को जंगली जड़ी बूटी के नाम से जाना जाता हैं. हमने नीचे कुछ जंगली जड़ी बूटी के नाम और जानकारी बताई हैं.

नीम का पेड़ जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी

जो नीम का पेड़ जंगल तथा झाड़ी में उगता हैं. वह नीम का पेड़ जंगली जड़ी बूटी के नाम से जाना जाता हैं. नीम के पत्ते गहरे हरे रंग के होते हैं. तथा इसकी पत्तियां स्वाद में बहुत ही कडवी होती हैं. ऐसा माना जाता है की नीम की पत्ती का सेवन करके काफी सारी बिमारियों से छुटकारा पाया जा सकता हैं.

अगर किसी को भूख नहीं लगने की समस्या हैं. तो सुबह के समय खाली पेट नीम की तीन से चार पत्ती का सेवन करने से व्यक्ति की भूख में बढ़ोतरी होती हैं. इसके अलावा डायबिटीज के मरीज के लिए भी नीम की पत्ती का जूस बनाकर सेवन करना फायदेमंद माना जाता हैं.

लसोड़ा जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी

लसोड़ा एक पेड़ हैं. जो अधिकतर भारत के महाद्रीप तथा चीन में दिखाई देता हैं. ऐसा माना जाता है की इस पेड का जन्म किसी भी जगह तथा कही पर भी हो सकता हैं. लसोड़ा को हिंदी भाषा में “निसोरा” तथा “गोंदी” के नाम से जानते हैं.

लसोड़ा के पेड़ के ऊपर छोटे-छोटे फल लगते हैं. जो कच्ची सुपारी की तरह दीखते हैं. कुछ लोग इसका सब्जी तथा अचार आदि भी बनाते हैं. इसका स्वाद मीठा तथा हाथ में लेने पर चिकना होता हैं.

ऐसा माना जाता है की लसोड़ा के इस्तेमाल से काफी सारी बीमारी का निवारण किया जा सकता हैं. लसोड़ा सबसे अधिक डायबिटीज के मरीज के लिए फायदेमंद हैं. इसके अलावा अन्य बीमारी में भी काम में लिया जाता हैं.

केवड़ा जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी

केवड़ा आपको काफी जगह देखने को मिल जाएगा. केवड़ा अधिकतर जंगल में ज्यादा उगता हैं. केवड़ा के पेड़ के ऊपर सुगंधित फुल उगते हैं. जिसकी महक बहुत ही शानदार होती हैं. यह फुल पीले तथा सफ़ेद रंग के होते हैं. कुछ लोग केवड़े की पत्तियों से इत्र भी बनाते हैं. ऐसा माना जाता है की केवड़े के आसपास सांप ज्यादा रहते हैं. क्योंकि सांप को केवड़े की सुगंध बहुत ही पसंद हैं.

ऐसा माना जाता है की कैंसर जैसी बीमारी के रोकथाम में केवड़ा फायदेमंद होता हैं. इसके अलावा मूत्राशय की समस्या में भी केवड़े के फुल का इस्तेमाल किया जाता हैं.

जड़ी बूटी का राजा कौन है

भुंगराज, एलोवेरा, आंवला, रोजमेरी तथा लैवेंडर इन पांचो जड़ी बूटी को जड़ी बूटी का राजा माना जाता हैं.

सबसे ताकतवर आयुर्वेदिक औषधि

आयुर्वेदिक के अनुसार अश्वगंधा को सबसे अधिक ताकतवर औषधि माना गया हैं.

Jangli-jdi-booti-ki-pahchan-jankari-aayurvedic-list (1)

आयुर्वेदिक जड़ी बूटी लिस्ट?

हमने आयुर्वेदिक जड़ी बूटी की लिस्ट नीचे दी हैं.

  • गिलोय
  • अश्वगंधा
  • शतावरी
  • एलोवेरा
  • आंवला
  • मुलहठी
  • ब्राह्मी
  • अशोक
  • नीम
  • हल्दी
  • सहजन
  • तुलसी
  • पुदीना
  • भुंगराज
  • रोजमेरी

आदि आयुर्वेदिक जड़ी बूटी की श्रेणी में आती हैं.

Jangli-jdi-booti-ki-pahchan-jankari-aayurvedic-list (2)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी तथा सबसे ताकतवर आयुर्वेदिक औषधि का नाम बताया हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह जंगली जड़ी बूटी की पहचान और जानकारी / आयुर्वेदिक जड़ी बूटी लिस्ट? आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

 

Shailesh Nagar

Leave a Comment