गोंद कितने प्रकार के होते हैं | बबूल का गोंद, लाल, कतीरा गोंद खाने के फायदे

गोंद कितने प्रकार के होते हैं | बबूल का गोंद, लाल, कतीरा गोंद खाने के फायदे – गोंद का नाम तो हम सभी लोगो ने सुना ही हैं. अकसर लोग सर्दी के मौसम में गोंद के लड्डू बनाकर खाते हैं. ऐसा माना जाता है की गोंद में काफी सारे पौष्टिक गुण पाए जाते हैं. गोंद का सेवन करने से काफी सारी बीमारियां दूर होती हैं.

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के रोकथाम में भी गोंद का इस्तेमाल फायदेमंद होता हैं. गोंद में फाइबर, एंटीओक्सिडेंट, प्रोटीन, विटामिन जैसे आदि पौष्टिक गुण होते हैं. इसलिए यह दिल की बीमारी में भी फायदा प्रदान करता हैं.

Gond-kitne-prakar-ke-hote-h-babul-lal-katira-fayde (3)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की गोंद कितने प्रकार के होते हैं. इसके अलावा बबूल का गोंद खाने के फायदे तथा लाल गोंद के फायदे बताने वाले हैं. तथा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

गोंद कितने प्रकार के होते हैं                             

वैसे तो गोंद के काफी प्रकार हैं. लेकिन कुछ मुख्य तथा अधिक इस्तेमाल में आने वाले गोंद के कुछ प्रकार हमने नीचे बताए हैं.

  • बबूल या कीकर का गोंद यह गोंद बहुत ही पौष्टिक होता हैं.
  • नीम का गोंद यह भी पौष्टिक गुणों से भरपूर होता हैं. यह हमारे शरीर को स्फूर्ति देने का काम करता हैं. इस गोंद में नीम के औषधीय गुण भी पाए जाते हैं. इलसिए यह हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता हैं. इस गोंद को इष्ट इंडिया गम के नाम से भी जाना जाता हैं.
  • हींग गोंद यह भी गोंद का ही एक प्रकार है. यह गोंद सुगंधित होता हैं. इस गोंद के भी दो प्रकार है. एक पानी में घुलने वाला गोंद तथा दूसरा तेल में घुलने वाला गोंद.
  • आम का गोंद यह भी हमारे शरीर के लिए अच्छा माना जाता हैं. इस गोंद का इस्तेमाल कुछ बीमारियों में किया जाता हैं. जैसे की चर्म रोग होने पर नींबू के रस में आम का गोंद मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाने से फायदा होता हैं.
  • इसके अलावा पीपल, अर्जुन, बेर, सहजन आदि पेड़ो में से भी गोंद पाया जाता हैं. इनमें भी औषधीय गुण पाए जाते हैं. जो अलग-अलग बीमारी में काम आता हैं.

Gond-kitne-prakar-ke-hote-h-babul-lal-katira-fayde (2)

बबूल का गोंद खाने के फायदे

बबूल गोंद खाने के कुछ फायदे हमने नीचे बताए हैं.

  • जोड़ो के दर्द को दूर करने में फायदेमंद होता हैं.
  • अगर किसी के शरीर में गर्मी अधिक होती हैं. तो ऐसी गर्मी को शांत करने में बबूल गोंद फायदेमंद होता हैं.
  • महिला में सफ़ेद पानी की समस्या को दूर करता हैं.
  • बाल झड़ने की समस्या में यह गोंद अच्छा माना जाता हैं.
  • शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता हैं.
  • कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए बबूल गोंद का सेवन फायदेमंद होता हैं.
  • पेट से संबंधित रोग में यह गोंद फायदा करता हैं.

लाल गोंद के फायदे

शरीर की हड्डियां मजबूत बनाने में लाल गोंद फायदेमंद होता हैं. सर्दी के मौसम में लाल गोंद के लड्डू बनाकर खाने से आपके शरीर की हड्डियों को मजबूती मिलती हैं.

कतीरा गोंद के फायदे

गर्भावस्था में महिलाओं के लिए कतीरा गोंद फायदेमंद होता हैं. गर्भावस्था में कतीरा गोंद खाने से महिला की कमर की हड्डी को मजबूती मिलती हैं. तथा ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में भी यह गोंद फायदेमंद होता हैं. कब्ज की समस्या के निवारण के लिए कतीरा गोंद खाना चाहिए.

गोंद कतीरा की पहचान

यह गोंद कतीरा नामक पेड़ में से निकलता हैं. इसका पेड़ कांटेदार तथा पहाड़ी क्षेत्र में पाया जाता हैं. इस पेड़ की छाल तथा टहनी के अंदर से पीले रंग का पदार्थ निकलता हैं. वह कतीरा गोंद होता हैं. इस गोंद की तासीर ठंडी होने के कारण इसका गर्मी के मौसम में अधिक सेवन किया जाता हैं.

काला गोंद किस पेड़ का होता है

काला गोंद बबूल पेड़ का होता हैं.

Gond-kitne-prakar-ke-hote-h-babul-lal-katira-fayde (1)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की गोंद कितने प्रकार के होते हैं. तथा कुछ गोंद के फायदे भी बताए हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह गोंद कितने प्रकार के होते हैं / बबूल का गोंद, लाल, कतीरा गोंद खाने के फायदे  आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Shailesh Nagar

Leave a Comment