दूब घास की पहचान- दूब घास के फायदे और नुकसान

दूब घास की पहचान – दूब घास के फायदे और नुकसान – दुब घास को दूर्वा घास के नाम भी जाना जाता हैं. हिंदू सनातन धर्म में दुब घास को पूजनीय माना जाता हैं. इसलिए कोई भी धार्मिक कार्य करने से पहले दुब घास का पूजा में इस्तेमाल किया जाता हैं.

Dub-ghas-ki-pahchan-fayde-nuksan (2)

ऐसा माना जाता है की दुब घास भगवान गणेश की पसंदीदा मानी जाती हैं. इसलिए भगवान गणेश की पूजा में भी दुब घास का प्रयोग किया जाता हैं. इसके अलावा दुब घास औषधीय गुणों से भी भरपूर होती हैं. इसलिए काफी सारी बीमारी को ठीक करने में भी दुब घास का उपयोग किया जाता हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से दूब घास की पहचान बताने वाले हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

दूब घास की पहचान

दूसरी घास की तुलना में दुब घास अधिक लंबी होती हैं. यह घास हरी और जमीन से पसरते हुए आगे की तरफ बढती हैं. यह घास पुरे साल पाई जाती हैं. जब यह घास सुख जाती हैं. तो इस पर थोडा सा पीलापन दिखाई देता हैं.

Dub-ghas-ki-pahchan-fayde-nuksan (1)

सूर्य ग्रहण के समय सूर्य कैसा हो जाता है / सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करे और क्या ना करे

दूब घास के फायदे और नुकसान

दूब घास से होने वाले कुछ फायदे और नुकसान के बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

दूब घास के फायदे

  • त्वचा संबंधी बीमारी को ठीक करने में दूब घास बहुत ही फायदेमंद मानी जाती हैं. अगर त्वचा पर खुजली अधिक आती हैं. या फिर फुडे-फुंसी अधिक बनते हैं. तो दूब घास और हल्दी की पेस्ट बनाकर लगाने से त्वचा विकार से मुक्ति मिलती हैं.
  • अनिद्रा की बीमारी में दूब घास बहुत ही फायदेमंद मानी जाती हैं. अगर आपको नींद नही आने की समस्या हैं. तथा अनिद्रा की बीमारी से पीड़ित हैं. तो आपको रोजाना दूब घास का सेवन करना चाहिए. इससे धीरे-धीरे अनिद्रा की बीमारी से छुटकारा मिलता हैं.
  • दूब घास का रेगुलर सेवन करने से थकान तथा तनाव आदि भी दूर होता हैं. अगर आपको अधिक थकान महसूस होती हैं. या तनाव अधिक रहता हैं. तो आपको दूब घास के रस का सेवन करना चाहिए.
  • एनीमिया की बीमारी को ठीक करने में भी दूब घास बहुत ही लाभदायी मानी जाती हैं. दूब घास के रस को हरा रक्त के नाम से भी जाना जाता हैं. यह आपके शरीर में रक्त बढाने का काम करता हैं. एनीमिया जैसी बीमारी में दूब घास अमृत समान माना जाता हैं. इसलिए एनीमिया से पीड़ित लोगो को दूब घास का सेवन करना चाहिए.
  • अगर हमारे शरीर का हिमोग्लोबिन कम हो जाता हैं. तो यह हमें काफी सारी बीमारी दे सकता हैं. ऐसे में हिमोग्लोबिन के स्तर को बढाने के लिए दूब घास बहुत ही अच्छी मानी जाती हैं. इसके रोजाना सेवन से हिमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता हैं. इसलिए रोजाना दूब घास का सेवन करना चाहिए.
  • कई बार हम देखते है की मुंह में छाले बन जाने पर जल्दी मिटते नहीं हैं. ऐसे में आप दूब घास को पानी में उबालकर उसके पानी से कुल्ला कर सकते हैं. इससे आपके मुंह में बने छाले जल्दी खत्म हो जाते हैं.
  • दूब घास का रस पीने से प्यास कम लगती हैं. और पेशाब खुलकर आने लगता हैं.
  • कई बार ब्लड में गर्मी अधिक बढ़ जाती हैं. इस वजह से शरीर की पूरी त्वचा बिगड़ जाती हैं. ऐसे में दूब घास का रस पीने से ब्लड में बढ़ी हुई गर्मी कम होती हैं. और त्वचा से जुडी बीमारी ठीक हो जाती हैं.

Puri duniya main kitne log hain | पूरी दुनिया में कितने लोग रहते हैं

दूब घास के नुकसान

वैसे तो दूब घास का सेवन करने से कोई भी नुकसान नहीं होता हैं. लेकिन अगर आप अधिक मात्रा में दूब घास का सेवन करते हैं. तो यह आपके शरीर के लिए नुकसानदायी भी हो सकता हैं.

Dub-ghas-ki-pahchan-fayde-nuksan (3)

निष्कर्ष            

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से दूब घास की पहचान बताइ है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह दूब घास की पहचान – दूब घास के फायदे और नुकसान आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

जल्दी कर्ज उतारने के टोटके – 4 सबसे पावरफुल टोटके 

शनिवार को कर्ज मुक्ति के उपाय – 4 सबसे प्रभावशाली उपाय

Shailesh Nagar

Leave a Comment