दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है – दहेज का केस की जानकारी

दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है – दहेज का केस की जानकारी – आज के समय में दहेज़ लेना और दहेज़ देना क़ानूनी अपराध माना जाता हैं. अगर कोई दहेज़ लेने के चक्कर में किसी महिला को परेशान करता हैं. तो ऐसे व्यक्ति को अपराधी मानकर उसे क़ानूनी तौर पर दंडित किया जाता हैं.

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से दहेज़ प्रथा के बारे में ही कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं. इसलिए आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होने वाला हैं. इस उपयोगी जानकारी को प्राप्त करने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

Dahej-pratha-shadi-ke-kitne-sal-tak-lagta-h-case-jankari (1)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है

दहेज़ प्रथा शादी के सात साल तक लगता हैं. जो व्यक्ति शादी के पहले या फिर शादी के दौरान दहेज़ के लिए मांग करता हैं. तो ऐसे व्यक्ति पर भारतीय दंड संहिता के अनुसार 1961 धारा के तहत उस व्यक्ति को दंडित किया जा सकता हैं.

अगर शादी के बाद महिला को उसके पति या उसके परिवार के द्वारा दहेज़ के लिए ताने मारे जाते हैं. या फिर महिला को परेशान किया जाता हैं. तो महिला इसके लिए केस दायर करवा सकती हैं. और ससुराल वालो के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकती हैं.

महिला की शिकायत के आधार पर महिला को परेशान करने वाले सभी लोगो को दंडित किया जा सकता हैं.

मेरे पिताजी का नाम चेंज करना है आधार कार्ड से –  कैसे करे

दहेज का केस की जानकारी

दहेज़ का केस की कुछ जानकारी और नियम हमने नीचे बताए हैं.

  • दहेज़ का केस होने पर किसी भी व्यक्ति की सीधी गिरफ्तारी नही होती हैं. धारा 498 ए के तहत सीधी गिरफ्तारी करना क़ानूनी अपराध माना जाता हैं. अगर किसी व्यक्ति पर जैसे की पत्नी ने पति पर केस दायर करवाया हैं. तो पति की सीधी गिरफ्तारी नही होगी. सबसे पहले कोर्ट पति पत्नी के बीच सुलह करवाने की कोशिश करता हैं.
  • पत्नी अगर पति के खिलाफ केस दर्ज करवाती हैं. तो पति को काउन्सलिंग के लिए बुलाया जा सकता हैं. इसके बाद पति पत्नी के बीच के मतभेद दूर करने की कोशिश की जाएगी. इस दौरान आप सभी सच सच बातो को बता सकते हैं.
  • अगर काउंसलिंग करने के बाद पति पत्नी के बीच का मतभेद दूर नही होता हैं. या फिर दोनों के बीच बात नही बनती हैं. तो इसके बाद पुलिस आपकी शिकायत को ध्यान में रखते हुए. धारा 41 ए के तहत आपको नोटिस भेज सकती हैं. पुलिस की नोटिस के बाद आपको कोर्ट की जगह पुलिस थाणे जाना होगा. और वहां पर आपको पुलिस के सामने सारी बातो को बताना होगा.
  • पुलिस के सामने आप सच सच बाते बता सकते हैं. जैसे की अगर आपकी पत्नी ने दहेज़ के बहाने आपको फंसाने की कोशिश की हैं. तो आप यह बात पुलिस को बता सकते हैं. अगर आपकी पत्नी ने आप पर झूठा केस दर्ज करवाया हैं. तो आप इन सभी बातो को भी बता सकते हैं. क्योंकि पुलिस बीना सबूत FIR दर्ज नही करती हैं. अगर पत्नी के पास पुख्ता सबूत होगा. तो ही पुलिस पत्नी की शिकायत दर्ज करेगी.
  • यदि पत्नी आपके खिलाफ दहेज़ और उत्पीडन का केस दर्ज करवाती हैं. और आपको झूठी धमकी देकर फंसा रही हैं. ऐसा करने के बाद वह आपसे दूर रह रही हैं. या फिर अपने मायके में रह रही हैं. तो ऐसे में आप वैवाहिक अधिकारों की धारा 9 के तहत पत्नी को आपके पास रहने के लिए बुला सकते हैं. पत्नी को अपने पास रहने के लिए बुलाना चाहते हैं. तो आपको कोर्ट में याचिका दर्ज करवानी होगी. यह आपके लिए पुख्ता सबूत होगा की आप तो अपनी पत्नी को अपने पास रहने के लिए बुला रहे हैं. लेकिन आपकी पत्नी ही आपके पास रहने के लिए नही आ रही हैं. वह खुद ही अपने मायके में जाकर बैठी हैं.

तो दहेज़ के केस में यह कुछ जानकारी और नियम थे. जो हमने आपको बताए हैं.

Dahej-pratha-shadi-ke-kitne-sal-tak-lagta-h-case-jankari (2)

क्लीनिक खोलने के लिए क्या करे / क्लीनिक खोलने के नियम 

दहेज केस में गिरफ्तारी कब होती है

दहेज़ के केस में सीधी गिरफ्तारी कभी नही होती हैं. जैसे की पत्नी ने पति के खिलाफ दहेज़ के मामले में केस दर्ज करवाया हैं. तो पुलिस सीधे पति को गिरफ्तार नही कर सकती हैं. इस पर कोर्ट ने रोक लगाई हुई हैं.

अगर पत्नी पति के खिलाफ केस दर्ज करवाती हैं. तो कोर्ट पहले दोनों को कोर्ट में बुलाकर दोनों के बीच सुलह करने की कोशिश करेगा. सुलह करने के लिए पति का काउंसिलिंग किया जाएगा.

अगर कोर्ट सुलह करने के बाद भी पति या पत्नी नही मानते हैं. तो ऐसे में यह पूरा मामला पुलिस को दिया जाता हैं. इस स्थिति में पुलिस थाणे से नोटिस भेजी जाती हैं. और पति को पुलिस थाणे बुलाया जाता हैं.

पुलिस थाणे जाने के बाद पति को सब सच सच बात पुलिस को बतानी होती हैं. इसके बाद ही पुलिस जाँच करती हैं. जांच में पुख्ता सबूत मिलने पर पुलिस गिरफ्तारी कर सकती हैं.

Dahej-pratha-shadi-ke-kitne-sal-tak-lagta-h-case-jankari (3)

फायर सेफ्टी क्या है / फायर सेफ्टी कोर्ष में क्या पढाया जाता हैं

निष्कर्ष                   

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है – दहेज का केस की जानकारी आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

रिटायरमेंट के बाद कितना पैसा मिलता है – Central government servant, Army & Police 

Puri duniya main kitne log hain | पूरी दुनिया में कितने लोग रहते हैं

साइलो किसे कहते है हिंदी में बताइए उत्तर दीजिए

Shailesh Nagar

1 thought on “दहेज प्रथा शादी के कितने साल तक लगता है – दहेज का केस की जानकारी”

Leave a Comment