चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है? – चेक बाउंस होने पर क्या होता है

चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है? – चेक बाउंस होने पर क्या होता है – आज के समय में हर कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करना ही पसंद करता हैं. जैसे की पेमेंट करने के लिए लोग चेक देना पसंद करते हैं. आज के समय में कोई भी बड़ा पेमेंट करने के लिए चेक का ही उपयोग किया जाता हैं. लेकिन कई बार हम देखते हैं. की चेक बाउंस हो जाता हैं.

चेक बाउंस होने के पीछे काफी सारे कारण हो सकते हैं. जैसे की अगर आपके खाते में पर्याप्त बेलेंस नही हैं. तो आपका चेक बाउंस हो सकता हैं. इसके अलावा आप चेक गलत तरीके से भर लेते हैं. तो इस स्थिति में भी चेक बाउंस हो सकता हैं.

Cheque-bounce-case-kitne-din-chalta-h (2)

चेक बाउंस होने पर आप पर केस हो सकता हैं. और इसके लिए आपको दंडित भी किया जा सकता हैं. इसके कुछ नियम हैं. जिसके बारे में आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से चर्चा करने वाले हैं. इसलिए इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है?. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है?

जब भी किसी व्यक्ति का चेक बाउंस हो जाता हैं. तो इसके पीछे काफी सारे कारण हो सकते हैं. जैसे की बैंक के खाते में पर्याप्त बैलेंस नही होना, सिग्नेचर करने में गलती करना, अकाउंट नंबर लिखने में गलती करना, चेक में कोई भी शब्द लिखने में गलती करना आदि परिस्थितयों में चेक बाउंस हो सकता हैं. इस स्थिति में बैंक ग्राहक को दंडित कर सकती हैं.

बैंक के द्वारा ग्राहक को दंडित करने पर ग्राहक को 200 रूपये से लेकर 800 रूपये तक जुर्माना भरना पड़ता हैं. अगर ग्राहक यह भुगतान नही भरता हैं. तो ग्राहक को एक लीगल नोटिस भेजी जाती हैं. जिसमें ग्राहक को दंड की रकम भरने के लिए कहा जाता हैं.

लेकिन नोटिस भेजने के बाद भी ग्राहक बाउंस चेक की दंडित रकम नही भरता हैं. तो उसे Negotiable Instrument Act 1881 के सेक्शन 138 के तहत दंडित किया जाता हैं.

इसमें देनदार पर केस दर्ज होता हैं. जिसमें चेक देनदार को दो साल की जेल की सजा हो सकती हैं. इसके अलावा चेक की अमाउंट से दुगुनी अमाउंट से दंडित किया जा सकता हैं. हाल में यह दोनों प्रावधान हैं.

Cheque-bounce-case-kitne-din-chalta-h (1)

किसी का मोबाइल बिना छुए कैसे हैक करें – स्टेप By स्टेप जानकारी जाने

चेक बाउंस होने पर क्या होता है

चेक बाउंस होने पर बैंक के द्वारा देनदार के खाते में से दंडित रकम काट ली जाती हैं. चेक बाउंस होने पर देनदार को इस बारे में बैंक को बताना पड़ता हैं. इसके बाद एक महीने के भीतर दंडित रकम का भुगतान करना होता हैं.

चेक किन किन स्थितयों में बाउंस हो सकता है / चेक बाउंस होने के कारण

चेक बाउंस होने के पीछे काफी सारे कारण हो सकते हैं. जिसमें से कुछ मुख्य कारण के बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • अगर आपके खाते में पर्याप्त बैलेंस नही हैं. तो इस स्थिति में आपका चेक बाउंस हो सकता हैं.
  • अगर आपने सिग्नेचर बदलकर शाइन की हैं. तो इससे भी आपका चेक बाउंस हो सकता हैं.
  • अगर आपके चेक में अंक और शब्द में धनराशी समान नही हैं. तो इस स्थिति में भी चेक बाउंस हो सकता हैं.
  • अगर आपने गलत तिथि चेक में डाली हैं. तो यह भी चेक बाउंस का मुख्य कारण माना जाता हैं.
  • अगर आप बैंक को फटा कटा चेक देते हैं. तो इस कारण भी चेक बाउंस हो जाता हैं.
  • चेक की समय सीमा खत्म होने पर भी चेक बाउंस हो जाता हैं.
  • अगर बैंक को जाली चेक होने का शक होता हैं. तो ऐसी परिस्थिति में भी चेक बाउंस होता हैं.

इन सभी कारणों से चेक बाउंस हो सकता हैं.

Cheque-bounce-case-kitne-din-chalta-h (3)

प्रेगनेंसी में सीधा सोना चाहिए या नहीं – प्रेगनेंसी में क्या नहीं करना चाहिए

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है? इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह चेक बाउंस केस कितने दिन चलता है? चेक बाउंस होने पर क्या होता है आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

पेशाब का दूधिया सफेद रंग की उपस्थिति के कारण है – सम्पूर्ण जानकारी

मनुष्य में शुक्राणु का निर्माण कैसे होता है – शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाएं

दिन में कितनी रस्सी कूदने चाहिए – रस्सी कूदने का सही समय 

Shailesh Nagar

Leave a Comment