अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए – अशोकारिष्ट सिरप कैसे पीना चाहिए

अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए – अशोकारिष्ट सिरप कैसे पीना चाहिए – अशोकारिष्ट के बारे तो आप सभी लोगो ने सुना ही होगा. यह एक आयुर्वेदिक सिरप हैं. जिसका उपयोग महिलाओ के द्वारा किया जाता हैं. महिलाओं में मासिक से जुडी परेशानी और अनियमित मासिक की समस्या दूर करने के लिए अशोकारिष्ट का उपयोग किया जाता हैं.

यह पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक औषधि होने के कारण इसके नुकसान काफी कम दिखाई देते हैं. अशोकारिष्ट आंवला, हरीतकी, अशोक की छाल और मुस्ता आदि से बनाया जाता हैं.

ashokarisht-kitna-bottle-pina-chahie (2)

लेकिन जो लोग डॉक्टर की सलाह के बीना अशोकारिष्ट पीते हैं. उन्हें यह नही पता होता है की अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए. अगर आपको भी इस बारे में नही पता हैं. तो आज का हमारा यह आर्टिकल अंत जरुर पढ़े. क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अशोकारिष्ट के बारे में ऐसी ही कुछ जानकारियां प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए

आमतौर पर अशोकारिष्ट महिलाओं के द्वारा पीया जाता हैं. महिलाएं अनियमित पीरियड को नियमित करने के लिए और मासिक से जुडी समस्या से छुटकारा पाने के लिए अशोकारिष्ट पीती हैं. डॉक्टर भी इन सभी समस्या से छुटकारा पाने के लिए अशोकारिष्ट पीने की सलाह देते हैं.

अगर आप भी अशोकारिष्ट पीते हैं. तो आपको एक से दो बोतल अशोकारिष्ट पीनी चाहिए. आप दिन में दो बार तीन से छह मिली अशोकारिष्ट पी सकते हैं. इससे अधिक अशोकारिष्ट पीना आपके लिए नुकसानदायी हो सकता हैं.

अगर आप एक से दो बोतल अशोकारिष्ट पीते हैं. और आपको आपकी समस्या में फायदा दिख रहा हैं. तो इससे अधिक अशोकारिष्ट की बोतल पी सकते हैं. लेकिन अशोकारिष्ट की एक से दो बोतल पीने के बाद भी आपको फायदा नही हो रहा हैं. तो आपको अशोकारिष्ट पीना बंध कर देना चाहिए.

लेकिन आप अशोकारिष्ट किसी डॉक्टर की सलाह से पीते हैं. तो आपको उनके कहे अनुसार अशोकारिष्ट पीनी चाहिए. इसके अलावा अशोकारिष्ट शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर की राय जरुर ले. अशोकारिष्ट लेने का सही समय और मात्रा डॉक्टर अच्छे तरीके से बता सकते हैं.

बियर का नशा कितनी देर तक रहता है – बियर का नशा उतारने के उपाय

अशोकारिष्ट कितने दिन पीना चाहिए

अगर आप अशोकारिष्ट पीते हैं. तो आपको दिन में दो चम्मच सुबह तीन मिली और शाम को तीन मिली अशोकारिष्ट पीना चाहिए. अशोकारिष्ट आपको हमेशा ही भोजन के आधे घंटे बाद पानी के साथ पीना चाहिए.

अशोकारिष्ट पीने के बाद आपको इसके अच्छे रिजल्ट के लिए एक से दो महिना पीना चाहिए. अगर एक से दो महिना पीने के बाद आपको आपकी समस्या में कोई फर्क नही दिख रहा हैं. तो आपको अशोकारिष्ट पीना बंध क्र देना चाहिए.

लेकिन अगर आपको अशोकारिष्ट पीने के बाद आपकी समस्या में थोडा सा भी फर्क दिख रहा हैं. तो आपको इसे लगातार पीना चालु रखना चाहिए. लेकिन अशोकारिष्ट पीने से पहले आपको एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए.

डॉक्टर आपकी समस्या की जांच करने के बाद इसकी डोज और सही समय बता सकते हैं. इससे आपको अधिक फायदा हो सकता हैं. इसलिए डॉक्टर की जांच के बाद उनकी सलाह के अनुसार ही अशोकारिष्ट पीना शुरू करे.

अशोकारिष्ट सिरप कैसे पीना चाहिए

अशोकारिष्ट सिरप को आप गुनगुने या सादे पानी में पी सकते हैं. इसके लिए सबसे पहले आप एक चम्मच जितना अशोकारिष्ट सिरप लीजिए. अब उसे गुनगुने या फिर सादे पानी में डाल दीजिए.

इसके बाद अशोकारिष्ट को पानी में अच्छे से मिश्रित करके पी लीजिए. अशोकारिष्ट पीने का यही सबसे अच्छा तरीका माना जाता हैं. अशोकारिष्ट को कभी भी बीना पानी के नही पीना चाहिए.

ashokarisht-kitna-bottle-pina-chahie (1)

बार-बार खड़ा क्यों होता है – 5 सबसे प्रमुख कारण जाने

अशोकारिष्ट सिरप क्या काम आती है?

नीचे दी गई स्थितयों में अशोकारिष्ट काम आती हैं.

  • अगर आप मासिक से जुडी समस्या और अनियमित पीरियड से परेशान हैं. तो इस स्थिति में अशोकारिष्ट काम आती हैं. यह आपके अनियमित पीरियड को नियमित पीरियड करता हैं. और मासिक धर्म से जुडी परेशानी ठीक करता हैं.
  • अगर आपका वजन पीसीओएस के कारण बढ़ रहा हैं. तो ऐसे में आप वजन घटाने के लिए अशोकारिष्ट का उपयोग कर सकते हैं. यानी की पीसीओएस के कारण बढ़े हुए वजन को कम करने में अशोकारिष्ट काम में आता हैं.
  • अगर आप त्वचा से जुडी किसी बीमारी से पीड़ित हैं. जैसे की अधिक मुंहासे होना या फिर त्वचा का फीका पड़ना. तो ऐसी समस्या में अशोकारिष्ट सिरप काम आती हैं. त्वचा से जुडी इस प्रकार की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको अशोकारिष्ट सिरप पीना चाहिए.

प्रेगनेंसी में सीधा सोना चाहिए या नहीं – प्रेगनेंसी में क्या नहीं करना चाहिए

अशोकारिष्ट के साइड इफेक्ट

वैसे तो अशोकारिष्ट पीने के ढेर सारे फायदे हैं. लेकिन कुछ प्राकृतिक परिस्थियों में अशोकारिष्ट के साइड इफेक्ट भी हैं. अशोकारिष्ट से होने वाले कुछ साइड इफेक्ट के बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • अगर आप सिमित मात्रा में या फिर अशोकारिष्ट का डोज सही तरीके से नही लेते हैं. तो इससे आपको एलर्जी और पेट दर्द की समस्या का सामना करना पड़ता हैं.
  • अशोकारिष्ट पीने से कई बार अपच की समस्या का भी सामना करना पड़ता हैं.
  • अशोकारिष्ट पीने से डायरिया और दस्त की समस्या भी हो सकती हैं.
  • कुछ मामलो में अशोकारिष्ट पीने से स्किन पर चकते पड़ना और स्किन लाल होने की समस्या भी दिखाई देती हैं.
  • अशोकारिष्ट पीने से शरीर में सुजन और दर्द की समस्या भी देखने को मिलती हैं.

अशोकारिष्ट पीने से आपको यह सभी साइड इफेक्ट दिखाई दे सकते हैं. अगर आपको इनमे से कोई भी साइड इफेक्ट दिखाई देते हैं. तो आपको अशोकारिष्ट नही पीना चाहिए. या फिर पीते भी है तो डॉक्टर की सलाह लेकर ही पीए.

अशोकारिष्ट से महिलाओ को क्या फायदे होते है

अशोकारिष्ट से महिलाओ को होने वाले कुछ फायदों के बारे में हमनें नीचे जानकारी प्रदान की हैं.

  • अशोकारिष्ट पीने से महिलाओं का अनियमित पीरियड नियमित होता हैं.
  • महिलाओं में पीरियड के बाद कमजोरी आ जाती हैं. ऐसे में पीरियड के बाद आने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए अशोकारिष्ट काफी अच्छा माना जाता हैं.
  • महिलाओं में पाए जाने वाले पीसीओएस के लक्षण को कम करने में अशोकारिष्ट मददरूप साबित होता हैं.
  • महिलाओ में आई वीकनेस और स्टेमिना में बढ़ोतरी करता हैं.

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न)

क्या अशोकारिष्ट पीने से गर्भधारण करने में मदद मिलती है?

जी हाँ, कुछ हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है की अशोकारिष्ट गर्भधारण करने में मदद करता हैं. क्योंकि यह आपके अनियमित पीरियड को नियमित करता हैं. इसके अलावा आपके महिलाओ के युट्स को स्वस्थ करने में भी मदद करता हैं. इसलिए यह गर्भधारण करने में मददरूप साबित हो सकता हैं.

क्या अशोकारिष्ट को पीरियड के दौरान लिया जा सकता है?

जी हाँ, महिलाएं पीरियड के दौरान भी अशोकारिष्ट ले सकती हैं. पीरियड के दौरान आई एंठन और दर्द की समस्या को खत्म करने के लिए अशोकारिष्ट अच्छा माना जाता हैं. इसलिए पीरियड के दौरान अशोकारिष्ट पीया जा सकता हैं.

क्या अशोकारिष्ट पीने से अनियमित पीरियड नियमित हो सकता है?

जी हाँ अशोकारिष्ट पीने से अनियमित पीरियड नियमित होता हैं.

ashokarisht-kitna-bottle-pina-chahie (3)

शिवलिंग पर सरसों का तेल किस दिन चढ़ाना चाहिए – सम्पूर्ण जानकारी

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए – अशोकारिष्ट सिरप कैसे पीना चाहिए आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

पेशाब का दूधिया सफेद रंग की उपस्थिति के कारण है – सम्पूर्ण जानकारी

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

मनुष्य में शुक्राणु का निर्माण कैसे होता है – शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाएं

Shailesh Nagar

2 thoughts on “अशोकारिष्ट कितना बोतल पीना चाहिए – अशोकारिष्ट सिरप कैसे पीना चाहिए”

Leave a Comment